व्हाइटहैट जूनियर – युवा दिमाग को प्रोग्रामर बनाने हेतु एक सार्थक पहल

4
101
WhiteHat-jr
WhiteHat jr

नई पीढ़ी की तकनीक: Whitehat jr 

टेक्नोलॉजी जिस प्रकार से संपूर्ण दुनिया में अपने पांव पसार रही है, इससे एक बात तो पूरी तरह साफ हो जाती है कि आने वाली पीढ़ी को टेक्नोलॉजी के लिए तैयार रहना पड़ेगा। जिस देश के पास सबसे अधिक तकनीक होगी वही देश सबसे अधिक विकसित माना जाएगा। इस संदर्भ में इसकी शुरुआत व्हाइटहैट जूनियर नामक एक कंपनी ने की है। व्हाइटहैट जूनियर Whitehat jr स्टार्टअप क्या है? इसका उद्देश्य क्या है? और इससे भारत किस प्रकार से प्रगति की ओर अग्रसर हो सकता है। आइए इस विषय में विस्तार पूर्वक चर्चा करते हैं।

WhiteHat-jr
WhiteHat jr

Whitehat jr ( व्हाइटहैट जूनियर ) स्टार्टअप क्या है?

आज के समय में सभी युवाओं का कोडिंग सीखना बहुत ही आवश्यक है, क्योंकि युवा दिमाग ही आने वाले भविष्य की सीढ़ी है और किसी भी देश को ऊंचाइयों पर जाने के लिए इसी सीढ़ी की आवश्यकता होती है। इस दिशा में मुंबई के करण बजाज ने व्हाइटहैट जूनियर Whitehat Jr स्टार्टअप के जरिए छोटे बच्चों को AI -आधारित प्रोग्रामिंग और कोडिंग सिखाना शुरू किया है। इनका मानना है कि युवा दिमाग यदि प्रोग्रामिंग सीखने को अग्रसर होगा, तो आने वाले भविष्य में यही छोटे बच्चे इस ज्ञान के सहारे अपने विचारों को कोडिंग के सहायता से वास्तविक दुनिया में संभव कर पाएंगे और वे एक सफल प्रोग्रामर बन पाएंगे। Edtech आधारित यह स्टार्टअप व्हाइटहैट जूनियर बच्चों को एआई-आधारित कोडिंग कौशल के साथ भविष्य के लिए तैयार कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें – Best Mobile under 10000 available in August 2020

Whitehat Jr स्टार्टअप का मुख्य उद्देश्य क्या है?

आज बड़े-बड़े सॉफ्टवेयर इंजीनियर इस फील्ड में नए होने के कारण अपने विचारों को वह रूप नहीं दे पाते हैं जैसा वे सोचते हैं। परंतु यदि वे बचपन से ही इस फील्ड में कार्य करें तो आगे चलकर उनके लिए कोडिंग करना बेहद आसान हो जाता है। इसी उद्देश्य से Whitehat Jr स्टार्टअप की शुरुआत की गई है।

छोटे बच्चों के लिए ऑनलाइन कोडिंग सीखना आसान होगा

यदि आपको भी तकनीक से प्यार है और आप तकनीक के बारे में अधिक जानना चाहते हैं तो आपके मन में भी यह सवाल आता होगा कि, ऑनलाइन कोडिंग कैसे सीखे? ऐसे में यह प्लेटफॉर्म आपकी कोडिंग सीखने में बहुत सहायता कर सकता है। यहां ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की मदद से ( न्यूनतम 6 वर्ष ) बच्चों को प्रोग्रामिंग सिखाया जाता है। शुरुआती दौर में इन्हें छोटे गेम्स बनाने सिखाए जाते हैं, फिर धीरे-धीरे इन्हें एप्लीकेशन बनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। आगे चलकर यह एडवांस्ड लेवल की प्रोग्रामिंग भी सीख जाते हैं।

इस स्टार्टअप से देश को क्या लाभ हो सकता है?

2019 में आई एक रिपोर्ट के अनुसार, यह संगठन प्रतिदिन 1000 कक्षाओं के साथ 150000 छात्रों को निरंतर शिक्षा प्रदान कर रहा है। इसमें लगभग 500 शिक्षक भी निरंतर ऑनलाइन क्लासेज लेते हैं। 2020 के आंकड़ों के अनुसार वर्तमान में इस स्टार्टअप से लगभग 400000 छात्र जुड़ चुके हैं। इसके साथ ही प्रतिदिन जुड़ने वाले छात्रों की संख्या बढ़ती जा रही है। यदि इस प्रकार से छात्रों की रुचि और प्रोग्रामिंग सीखने की इच्छा बढ़ती रही तो आने वाले समय में भारत में लाखों की संख्या में प्रशिक्षित प्रोग्रामर उभरकर आएंगे। व्हाइटहैट जूनियर WhatHat jr ने कोडिंग पर ध्यान केंद्रित किया है और केवल एक साल में 700,000 से अधिक छात्रों को साइन अप किया है। यह अब वैश्विक विस्तार करने पर कार्यरत हैं।

इस लेख पर अपने विचार अवश्य साझा करें।

4 COMMENTS

  1. बहुत ही सुंदर जानकारी दिया है। क्रिप्कया यह भी बताए कि हम इसपर अपने बच्चे को कैसे पढ़ा सकते है?

  2. Sir, thanks for the information.
    Do you have any suggestions about other courses offered online..?

    Please let me know!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here